आप सब को पता ही है मतलबी लोग कैस होते है ये सिर्फ अपने मतलब के लिए कुछ भी कर सकते है तो इनसे दूर ही रहा करो ये लोग अच्छे नहीं होते है और ये लोग हर इंसान की जिंदगी में होते है तो आप को चाइए की इन लोगो से दूर रहे यही आपके लिए और हम सब लोगो के लिए अच्छा होगा 




हेलो दोस्तो कैसे है आप सभी लोग उम्मीद करता हूं आप सभी लोग खरिया से होंगे आज के इस आर्टिकल में आप सभी के लिए लेकर आए गया हू धमाकेदार पोस्ट जिसको पढ़के आप सब को मज़ा आ जाएगा तो आप समझ ही चुके हो कि पोस्ट किस टॉपिक पे होने वाली है तो आप पोस्ट को पड़ना स्टार्ट कीजिए पोस्ट टाइटल kisi ke liye kitna bhi karo quotes



बड़ा बेदर्द है ये ज़माना नफरत उसी को देता है 
जो यहाँ प्यार लुटाए फिरता है




मुझे हर कोई अपना दिखता है पर मेरी तरफ कोई 
तभी देखता है जब उसे मुझमे कोई फायदा दिखता है






वो लोग बहुत मजबूत हो जाते है,
जिनके पास खोने के लिए कुछ भी नही होता।




प्यार के बदले में यहाँ लोग गम चुकाते है जो दिल 
से प्यार करते है उन्ही का ज्यादा लोग दिल दुखाते हैं।




खुशिया कम है गम काफी है फिर 
भी ज़िंदा है क्यूंकि दम काफी है।





अगर दुनिया के लिए यही वफ़ा थी तो 
ये वफाई की गलती बस आखिरी दफा थी।




बेफिज़ूल ही हमने उसके लिए इतना 
कुछ किया जो हमे कुछ भी नहीं समझता था





जीवन में अपनापन तो हर कोई दिखाता है, 
लेकिन वाकई अपना कोन है ये तो समय बताता है।





कसूर किसी का भी हो मगर, आसूँ 
हमेशा बेक़सूर के ही निकलते हैं.






क्या पता था कि मोहब्बत ही हो जाएगी,
हमें तो बस तुम्हारा मुस्कुराना अच्छा लगा था




एक तो ये बुरा वक़्त कट नहीं रहा ऊपर से 
ये बुरा वक़्त काटने के लिए दौड़ रहा है




अपने ही लोग लूट लेते है, वरना गैरों को क्या 
मालूम कि दिल की दीवार कहाँ से कमजोर है।





कीमत उसे पाने वालो को पता होती है, 
मगर अहमियत सिर्फ उसे खोने वाले को.





किसी और का हो गया अब तुम्हारा प्यार, 
बड़ी देर बाद मालूम हुई तुम्हे मेरे प्यार की अहमियत.




मेरी जिंदगी गुजर गई आपके लिए करते करते और आपको लगता हैं हमने क्या किया हैं आपके लिए.




दिल लाखों दर्द में बैठे हैं फिर भी ना जाने क्यों अभी भी लाखों की तादाद इस दर्द को पाने को खड़ी है.




तुमसे क्या गलती हो गई थी सब याद रखते हैं पर तुमने उनके लिए क्या क्या किया सब भूल जाते हैं।




सौ दर्द हैं महोब्बत में बस एक राहत हो 
तुम नफ़रतें बहुत हैं जहाँ में बस एक चाहत हो तुम




बहुत चमक है उन आँखों में अब भी, 
इंतज़ार नहीं बुझा पाया है उम्मीद की लौ!





जिन की ख़ातिर शहर भी छोड़ा जिन के लिए 
बदनाम हुए आज वही हम से बेगाने बेगाने से रहते हैं.





सब को मिली थी, अपनी सच्ची मोहब्बत तो, 
क्यों मेरी ही मोहब्बत की मुझे वफ़ा नही मिली.





उसी से पूछ लो उसके इश्क की कीमत, 
हम तो बस उसके भरोसे पर बिक गए।




कोई तुम्हे तब तक ही याद रखता है, 
जब तक उसे तुझसे मतलब होता है।





यकीन था कि तुम भूल जाओगे मुझे 
खुशी है कि तुम उम्मीद पर खरे उतरे.!




छोड़ दिया है तुमने बोलकर झूठा प्यार मुझे, देखता हूँ 
मैं भी कहाँ मिलेगा सच्चा प्यार तुझे.




किसी के लिए कितना भी करो कम हैं, तुम सिर्फ 
अपनों के लिए करो, कभी कम या जायदा नहीं लगेगा.





मामले आएं है कई दिल दहला देने वाले, कई पराए मिले अपनों के भेष में खुद को अपने कहला देने वाले।





गले लगाना तो बस एक कला है 
बाकि पीठ पीछे तो हर कोई तुझसे जला है।





कुछ कहने की ज़रुरत नहीं मैं जानता हूँ
 तुम किसी काम से ही आए होंगे।





इस दुनिया में किसी के लिए कितनी 
भी करो वो आपका अपना नही होता है.




गलतफहमी की गाज गिरी यूं नातों पर 
अहमियत घटी, दूरी बढ़ी इलज़ाम लगे हालातों पर!




लोग भी कमाल करते हैं, अंधेरो 
से डरते हैं और चाँद से प्यार करते हैं




हद से ज्यादा अच्छाई भी अक्सर
 बुराई की वजह बन जाया करती है




मोहब्बत में किस मरहले में हूं ये बताओ 
तो जरा, उसकी बदतमीजियां 
भी काबिले तारीफ लगती हैं।




तुमसे क्या गलती हो गई थी 
सब याद रखते हैं पर तुमने उनके 
लिए क्या क्या किया सब भूल जाते हैं।




कुछ लोगो को प्यार की 
अहमियत नहीं पता। 




हम न समझे तेरी नजरो का तकाज़ा क्या है
कभी पर्दा कभी जलवा ये तमाशा क्या है




फरेब, धोखे से मुहब्बत में बदनाम हुए इज्जत,
 इबादत से इश्क में आबाद हुए




कुछ लोगो के लिए कुछ भी कर 
लो लकिन वो करंगे अपनी मन की ही



अगर आप सभी को ये आर्टिकल पसंद आया है तो इसको अपने दोस्तो के साथ फेसबुक वॉट्साप इंस्टाग्राम पे जरूर शेर करे और ऐसे ही शायरी पड़ने के लिए हमें फॉलो करे