emotional shayari in hindi on life



दोस्तो आप भी अपनी जिंदगी को लेकर बहुत ही ज्यादा इमोशनल है । और आप सभी लोग गूगल पर काफी ज्यादा सर्च कर रहे है । तो यह लेख आप सभी के लिए ही होने वाला है । इस आर्टिकल में हम आप सभी के लिए लेकर आए हैं । emotional shayari in hindi on life आप इस आर्टिकल को ध्यान से लास्ट तक जरूर पढ़े । इत्यादि आप इस आर्टिकल को अपने दोस्तों में है जरूर शेयर कर दें जोकि शायरियों को पसंद करते हैं| 






जरा वक़्त को भी वक़्त दो

किस्मत इतनी बुरी भी नहीं

बस वक़्त वक़्त की बात हैं

आज दुःख तो कल ख़ुशी की बरसात हैं




jara vaqt ko bhee vaqt do kismat itanee buree bhee nahin 

bas vaqt vaqt kee baat hain aaj duhkh to kal khushee kee barasaat hain





अभी जिन्दा हैं

जिंदगी की जिंदगानी बाकी हैं

अभी बेजान नहीं हैं हम

अभी ज़िन्दगी की कहानी बाकी हैं




abhee jinda hain jindagee kee jindagaanee baakee hain 

abhee bejaan nahin hain ham abhee zindagee kee kahaanee baakee hain





सफल बनना हैं तो सीखना, कभी छोड़ना मत

वरना पैसे तो हर कोई कमा लेता हैं





मौत आये तो शायद दिन संवर जाये।

वरना जिंदगी ने तो मार ही डाला है।


Maut Aaye To Shayad Din Sanwar Jaye.

Warna Zindagi Ne To Maar Hi Daala Hai.






कभी मौका मिला तो,

हम किस्मत से शिकायत जरुर करेंगे।

क्यों छोड़ जाते हैं, वो लोग,

जिन्हें हम टूट कर चाहते हैं।


Kabhi Mauka Mila To,

Hum Kismat Se Shikayat Jarur Karenge.

Kyon Chod Jate Hain Wo Log,

Jinhe Hum Toot Kar Chahte Hain.




तक़दीर हर किसी की एक जैसी नहीं हैं

कोई ज़िन्दगी जी रहा हैं

तो कोई ज़ीने के लिए गम पी रहा हैं


taqadeer har kisee kee ek jaisee nahin hain koee 

zindagee jee raha hain to koee zeene ke lie gam pee raha hain



अब समझ लेता हूँ मीठे लफ़्ज़ों की कड़वाहट,

हो गया है ज़िंदगी का तजुर्बा थोड़ा थोड़ा।


Ab samajh leta hoon mithe lafzon ki kadbahat

ho gya ha zindagi ka tajurba thoda thoda.







फुर्सत में करेंगे

तुझसे हिसाब-ए-ज़िन्दगी

अभी तो उलझे है

खुद को सुलझाने में



phursat mein karenge tujhase hisaab-e-zindagee

 abhee to ulajhe hai khud ko sulajhaane mein




अपनी कमजोरियो का जिक्र कभी न करना

जमाने मैं लोग कटी पतंग को जम कर लुटा करते है



apanee kamajoriyo ka jikr kabhee na karana 

jamaane main log katee patang ko jam kar luta karate hai




अगर दुनिया को समझने की सोचते हो,

तो कभी इसको समझा ना सकोगे तुम,

अगर की परवाह दुनिया की बातों की तुमने,

तो कभी भी मुझको पा ना सकोगे तुम!! 


 


agar duniya ko samajhane kee sochate ho,

 to kabhee isako samajha na sakoge tum,

agar kee paravaah duniya kee baaton kee tumane, 

to kabhee bhee mujhako pa na sakoge tum!!





हो के मायूस न यूं शाम से ढलते रहिये,

ज़िन्दगी भोर है सूरज सा निकलते रहिये,

एक ही पाँव पे ठहरोगे तो थक जाओगे,

धीरे-धीरे ही सही राह पे चलते रहिये।



ho ke maayoos na yoon shaam se dhalate rahiye, 

zindagee bhor hai sooraj sa nikalate rahiye, 

ek hee paanv pe thaharoge to thak jaoge, 

dheere-dheere hee sahee raah pe chalate rahiye.